पश्चिमी चम्पारणबिहार

विश्व दिव्यांग दिवस पर जिला प्रशासन द्वारा कार्यक्रम आयोजित नहीं करने पर दिव्यांगों में रोष, जतायी नाराजगी।

लखीसराय से राजेश कुमार की रिपोर्
लखीसराय. बुधवार को जिला दिव्यांग कल्याण संघ की बैठक जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश स्नेही की अध्यक्षता में किया गया. इस दौरान श्री स्नेही ने कहा कि तीन दिसंबर दिवस को विश्व दिव्यांग दिवस पूरे देश में ही नहीं पूरे विश्व में मनाया जाता है लेकिन लखीसराय जिला में विगत कई वर्षों से दिव्यांगों की घोर उपेक्षा की जा रही है. विश्व दिव्यांग दिवस पर सिर्फ खानापूर्ति की जाती है. जिला प्रशासन की लापरवाही के चलते दिव्यांगों के लिए बुनियाद केंद्र जिला परिसर के पास न बनाकर हलसी में बनाया गया, जिसके कारण पूरे जिले के दिव्यांग को काफी कठिनाई हो रही है. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार द्वारा भी दिव्यांगों की घोर उपेक्षा की जा रही है, जिसके चलते दिव्यांग जो एकदम लाचार है, भूखमरी के कगार पर आ चुके हैं. पेंशन जहां अन्य राज्यों में एक हजार से लेकर तीन हजार रुपये मिल रहा है, वहीं बिहार में सिर्फ चार सौ रुपये दिया जाता है, जो बहुत दुखद है. उन्होंने कहा कि जहां एक ओर जेपी सेनानी हर चीज मिल रही है, मासिक पांच हजार से 10 हजार रुपये तक दिया जा रहा है जबकि दिव्यांग को सिर्फ चार सौ रुपये भुगतान किया जाता है. इतना ही नहीं अन्य जिलों में बैट्री चलित वाहन दिया गया लेकिन यहां आज तक किसी को नहीं मिला. इतना ही नहीं बहुत सारे दिव्यांग का तो पेंशन ही बंद कर दिया गया जो दुर्भाग्यपूर्ण है. मौके पर सचिव रवि कुमार, सह सचिव धीरज कुमार लहेरी, शंभु कुमार, ललित कुमार, जितेंद्र कुमार, आदि मौजूद थे.