पश्चिमी चम्पारणबिहार

9:30 बजे सुबह में मैनाटांड़ सीएचसी मे प्रसव के लिए महिला का आना और 10:15 बजे जाना, स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही: एसडीओ

मैनाटांड़(प.च)।

एसडीओ श्रीमती साहिला ने गुरुवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मैनाटांड़ के निरीक्षण के दौरान अस्पताल के कुव्यवस्था पर बिफर पड़ी। उन्होंने निरीक्षण के दौरान अस्पताल मे साफ-सफाई में कमी पर कड़ा एतराज जताया। एसडीओ ने अस्पताल में साफ सफाई कराने वाले एनजीओ के विरुद्ध कार्रवाई करने का निर्देश भी दिया। उसके बाद लेबर रूम में भी गंदगी देखा गया। अस्पताल के पुरुष और महिला वार्ड में आशा कार्यकर्ताओं का ट्रेनिंग होता देख वे बिफर पड़ीं। उन्होंने सीएचसी प्रभारी से पूछा कि वार्ड के बाहर मरीज और वार्ड में ट्रेनिंग, यह कतई नहीं चलेगा। अगर आपके पास अचानक दस मरीज एक साथ पहुंच जाते हैं तो आप कहां रखेंगे। पहले मरीज के स्वास्थ्य जरूरी है कि ट्रेनिंग।उन्होंने ट्रेनिंग के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने का निर्देश उन्होंने दिया। एसडीओ ने दवा वितरण कक्ष का जायजा लिया। जायजा के दौरान दवा वितरण में कमी पाई गई ।स्टोर कीपर सुरेंद्रनाथ गिरी और दवा बांटने वाली कर्मी अर्चना कुमारी के भी गायब रहने का मामला मिला। उसके बाद एसडीओ ने एएनएम कक्ष का भी जायजा लिया। तो गुरुवार को 9:30 बजे सुबह में प्रसव के लिए महिला को आना और 10:15 बजे प्रसव उपरांत चले जाने पर कड़ी आपत्ति उन्होंने जाताया है। उन्होंने इसे घोर लापरवाही बताते हुए कहा कि पवन घंटा के अंदर कैसे प्रसूति मरीज को एक नवजात बच्चा के साथ छोड़ दिया गया । जच्चा और बच्चा के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया गया है।उन्होंने बीडीओ से जिस मरीज को छोड़ा गया है उसके बारे में पूरा पता कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। कोल्ड चैन का भी निरीक्षण किया ।साथ ही स्टोर और शल्य कक्ष में ताला लगे रहने पर भी कड़ी आपत्ति जताई ।अस्पताल की कुव्यवस्था पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कार्रवाई करने की बात कही। मौके पर बीडीओ राजकिशोर प्रसाद शर्मा,सीओ कुमार राजीव रंजन, प्रभारी डॉ विजय कुमार चौधरी,स्टेनो जावेद हुसैन, बीसीएम अनिल कुमार , डॉ इम्तेयाज, डॉ विकास कुमार , एएनएम रीना कुमारी, शाहजहाद मंसूर राकेश मिश्रा आदि मौजूद रहे।