पश्चिमी चम्पारणबिहार

जिलान्तर्गत पेयजल निश्चय योजना, ग्रामीण गली-नाली पक्कीकरण निश्चय योजना सहित धान अधिप्राप्ति केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की करायी गयी गहन जांच।

बेतिया(प.च)।

जिलाधिकारी, पश्चिम चम्पारण के निदेश के आलोक में आज दिनांक-5.12.2020 को पश्चिम चम्पारण जिलान्तर्गत पंचायती राज विभाग द्वारा संचालित सात निश्चय योजना के तहत क्रियान्वित मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण गली-नाली पक्कीकरण निश्चय योजना सहित धान अधिप्राप्ति केन्द्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों की गहन जांच जिलास्तर पर गठित जांच दल द्वारा कराया गया है। जांच दल में वरीय पदाधिकारियों सहित तकनीकी पदाधिकारियों को लगाया गया ताकि योजनाओं की जांच गहनता से की जा सके।

जांच दल द्वारा नल-जल एवं गली-नाली योजनाओं के तहत योजना की गुणवता, योजना का प्राक्कलन, योजना से संबंधित मापीपुस्त, अभिश्रव की स्थिति, योजना का साईन बोर्ड, अभिलेख, बोरिंग की गहराई, स्टेजिंग की उंचाई एवं गुणवता, एमडीईपी पाईप की गहराई एवं गुणवता, एचडीईपी पाईप की गहराई एवं गुणवता, नल की गुणवता, नलपोस्ट, फेरल, गेटवाल, बिजली कनेक्शन, प्राक्कलन के अनुरूप सड़क की गुणवता आदि की सूक्ष्मता से जांच की गयी।

वहीं जांच दल द्वारा संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की भी जांच की गयी। जांच के क्रम में पीएचसी में उपलब्ध सभी सुविधाओं सहित दवा की उपलब्धता, चिकित्सक/कर्मी की उपस्थिति, साफ-सफाई, आउटडोर एवं इंडोर का संचालन, चादर/कपड़े बदले जाने की स्थिति आदि की जांच वरीय पदाधिकारियों द्वारा की गयी। साथ ही धान अधिप्राप्ति केन्द्रों पर धान अधिप्राप्ति की स्थिति की भी गहनता से जांच की गयी।

जिलास्तरीय जांच में जिन वरीय पदाधिकारियों को लगाया गया उनमें सुश्री सुभाषीनी प्रसाद, सुश्री मयंक सिंह, श्री अनिल कुमार, श्री विजय प्रकाश, श्री मनीष कुमार, श्रीमती रश्मि कुमारी, श्री अनिल कुमरा राय, श्री राजीव कुमार, श्री बालेश्वर प्रसाद, श्री नवल किशोर प्रसाद, श्री अमित कुमार, श्री अजय कुमार सिंह, श्री मदन कुमार, श्री अमित कुमार, मो0 इमरान, श्री जितेन्द्र कुमार सिन्हा, श्री सुजीत कुमार वर्णवाल, श्री राजेश सिंह, श्री विनोद कुमार रजक, मो0 सरफराज नवाज आदि के नाम शामिल है।

जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार ने कहा कि सरकार के विभिन्न विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की अनियमितता एवं लापरवाही बरतने वाले व्यक्तियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जायेगा। सरकार की विभिन्न योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ पात्र लाभुकों को मिल सके इस हेतु जिला प्रशासन कृतसंकल्पित है। विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में गड़बड़ी करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध लगातार कार्रवाई की जा रही है तथा गड़बड़ी को ठीक कराया जा रहा है।