पश्चिमी चम्पारणबिहार

एक महिला ने धनहा थानेदार के खेलाफ एसपी को आवेदन देकर चैटिंग कर नाजायज़ सम्बन्ध बनाने का लगया आरोप।

बगहा(प.च)।

धनहा थाना क्षेत्र के नवका टोला गांव निवासी तारा देवी ने एसपी को आवेदन दे धनहा थानाध्यक्ष द्वारा मोबाइल वाट्सएप्प पर चैटिंग कर नजायज संबंध बनाने का आरोप लगायी है. उसने दिये गये आवेदन में लिखी है कि वह जमीनी विवाद को 12 अक्टूबर 2020 को धनहा थाना में एक लिखित आवेदन दी थी. जिसमें वह अपना मोबाइल नंबर दर्ज की थी. उसी दिन से धनहा थानाध्यक्ष शंभुशरण गुप्ता मेरे मोबाइल पर गुड मॉर्निंग, गुड नाईट का एसएमएस भेजना शुरू कर दिये. इसके साथ ही वह आई लव यू के साथ अश्लिल एसएमएस के साथ वाट्सएप्प पर चैटिंग भेजना शुरू कर दिये. इतना ही नहीं एक वह जीविका के कार्य से बांसी जा रहा थी कि इसकी भनक थानाध्यक्ष को मिली तो वह बांसी पहुंचकर मुझे जबरन होटल में चाय पिलाने को लेकर चले गये. जब मैं इसका विरोध की तो फिर वे बाहों में जकड़ने का प्रयास किये. जिसको लेकर हमने उनपर हाथ उठा दिया. जिस दौरान वह मेरे ऊपर चाय फेंक दिये और जिससे मेरा बाया पैर जल गया. इस घटना का विरोध करने पर वह आग बबूला होकर भद्दी भद्दी शब्दों का प्रयोग करने लगे. वहीं 2 दिसंबर की रात मेरे पति की अनुपस्थिति में गांव के ही कन्हैया यादव (चौकीदार) के हाथों गुलाबी रंग की साड़ी व नकद 10 हजार रुपये मुझे देना चाहा तो नहीं लेने पर मुझे थप्पड़ मार दिया. इसकी जानकारी थानाध्यक्ष को लगी तो उनके द्वारा मेरे पति को जान से मारने की धमकी दिये. साथ ही कुछ दिन पूर्व मेरे घर पर थानाध्यक्ष आये और मेरी अश्लिल फोटो खींच लिये. इस बाबत पूछे जाने पर एसडीपीओ कैलाश प्रसाद ने बताया कि इस मामले की सूचना मिलते ही स्वयं धनहा थाना पहुंच इस मामले की गंभीरता से जांच पड़ताल किया. वहीं आरोपी व परिजनों से पूछताछ के दौरान इस आरोप को बेबुनियाद व गलत पाया गया. जांच के क्रम में पाया गया कि बाड़ा बाबू के नाम से उक्त महिला ने खुद वाट्सएप्प एकाउंट बना रखा था. वह दूसरे पांच अलग अलग नंबर से चैटिंग व एसएमएस करती थी. महिला का चरित्र संदिगध है. मामले की उच्चस्तरीय जांच की जा रही है.