पश्चिमी चम्पारणबिहार

प्रदूषण मुक्त दीपावली मना कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए जागरुकता फैलाएंगे विद्यार्थी।

 

बगहा(प.च)।

बाल दिवस एवं दिपावली पर्व के उपलक्ष्य में पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से उत्क्रमित मध्य सह माध्यमिक विद्यालय, पचरूखा प्रांगण में शिक्षकगण द्वारा शुक्रवार को पौधारोपण किया गया। विद्यालय के वर्ग दशम की जांच परीक्षा दे रहे विद्यार्थी विगत वर्षों के भाँति इस वर्ष भी प्रदूषण मुक्त दीपावली मना कर पर्यावरण संरक्षण में सहयोग करेंगे तथा विद्यार्थियों एवं गाँव के लोगों को इसके लिए प्रेरित व जागरुक करेंगे। परीक्षार्थी रीता कुमारी, खुशबू कुमारी, प्रीति कुमारी, ममता कुमारी, अंजली कुमारी, तारा कुमार, सुधीर कुमार, पुरुषोत्तम कुमार, सदावृक्ष बैठा आदि ने कहा कि वाल्मीकि व्याघ्र आरक्ष वन क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों में पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने के लिए हम सभी विद्यार्थी प्रदूषण मुक्त इको दीपावली मनाकर समाज में जागरुकता फैलाएंगे। प्रभारी शिक्षक धर्मेन्द्र भारती ने कहा कि प्रदूषण से न सिर्फ पर्यावरण को बल्कि आम जनजीवन भी प्रभावित हो रहा है। हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए हरसंभव प्रयास करते रहना होगा। वहीं विद्यालय में डब्ल्यू डब्ल्यू एफ इंडिया ‘एक पृथ्वी’ द्वारा संचालित ‘पर्यावरण की पोटली’ के प्रभारी एवं सहायक शिक्षक सुनिल कुमार ने बताया कि विद्यालय के विद्यार्थी पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरुकता के लिए संकल्पित हैं एवं विगत वर्षों से पर्यावरण संरक्षण हेतु विद्यालय स्तर के गतिविधियों में शामिल होने के साथ साथ प्रदूषण मुक्त दीपावली मनाते रहें हैं। उन्होंने आगे बताया कि विद्यालय एवं विद्यालय के विद्यार्थियों के घर के आसपास वन क्षेत्र है जिसमें वन्य जीव अधिवास करते हैं। ऐसे में पर्यावरण संरक्षण हेतु तथा वन एवं वन्य जीवों के स्वास्थ्य को देखते हुए इको पर्व मनाया जाता है ताकि वायु प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण एवं अन्य गंभीर समस्याओं से बचा जा सके। हमारे अगल बगल के वृद्ध, अस्वस्थ एवं जीव जंतुओं के स्वास्थ्य के लिए लिए पटाखों की तेज एवं कर्कश ध्वनि, धुँआ, कार्बन आदि स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से हानिकारक एवं कष्टदायक होते हैं। पटाखे फोड़ते समय असावधानी से आंखो को एवं शरीर को नुकसान पहुँचने की संभावना बनी रहती है हमें सुरक्षित ढंग से पर्व मनाना चाहिए। पर्व पर कपड़ा पहनने हेतु चयन में भी सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि ज्वलनशील कपड़ा शरीर के लिए नुकसानदायक होता है। ऐसे में सभी लोगों को इन बातों को ध्यान में रखते हुए विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। मौके पर प्रभारी शिक्षक धर्मेंद्र भारती, सहायक शिक्षक सुनिल कुमार, अभिमन्यु कुमार, शशि कुमारी, नरेंद्र कुमार, शक्ति प्रकाश आदि उपस्थित रहें।