पश्चिमी चम्पारणबिहार

खलिहान में रखे धान के बोझे में लगी आग।

बगहा(प.च)।

हर तरफ दीपावली के त्योहार की उमंग दिखाई दे रही थी । हर उम्र वर्ग के महिलाओं, पुरुषों व बच्चों में उत्सव की तैयारी जोरों पर थी । घरों को रंगोली से सजाया जा रहा था । विशेष कर लड़कियां और महिलाएं घर के आंगन से लेकर हर दरो-दीवारों को रंग-विरंगी मनमोहक नक्काशियों से सजाने में लगी थीं । बच्चे में पटाखों और मिठाइयों की ललक थी । घर के अभिभावक ( स्त्री,पुरुष और वृद्ध जन ) माता लक्ष्मी की पूजा कर उन्हें प्रसन्न करने की तैयारी में जुटे थे के अचानक अगलगी की घटना से सभी सन्न रह गए । प्राप्त जानकारी के अनुसार अगलगी में खलिहान में रखे गए करीब तीन हजार से अधिक धान के बोझे जल कर खाक हो गए ।

घटना बगहा प्रखंड एक के भैसाहि-पडरखाप पंचायत अंतर्गत हरपुर गाँव के खलिहान की है । यहाँ पर गाँव के तमाम किसानों के सामुदायिक तौर पर रखे गए धान के बोझों में आग लग गई । हालांकि इस अगलगी के कारणों का खुलासा नहीं हुआ है । घटना के संदर्भ में स्थानीय सरपंच विनोद चौधरी ने बताया के किसान फागु दास,मितिचन दास,राजकुमार दास ,रामप्यारे दास,नाथू दास,गुरा दास,राजकुमार पारित,साम्सुनार मुसहर,किशोर राम, पप्पू चौधरी,पुराण ठाकुर,दुखी मुसहर,राधेश्याम दास,सामु यादव,कमेस्वर राव,सुरेश पारित,शत्रुघ्न चौधरी,पारस मुसहर व अन्य किसानों के दवनी के लिए खलिहान में धान बोझे रखे गए थे जो जल गए।